60+ Objective Questions and Answers Physics in Hindi | B.Sc. I, Physics III book-Unit 3

60+ Objective Questions and Answers Physics in Hindi

Q.1 ट्रांजिस्टर है एक –

(a) वैद्युत धारा पर कार्य करने वाली युक्ति
(b) एक प्रसारण युक्ति
(c) एक सन्धि युक्ति
(d) इनमें से कोई नहीं

Ans. (a) वैद्युत धारा पर कार्य करने वाली युक्ति

Q.2 सन्धि ट्रांजिस्टर होता है –

(a) तापायनिक ट्रायोड वाल्व
(b) तापायनिक डायोड वाल्व
(c) तापायनिक ऊष्मा वाल्व
(d) इनमें से कोई नहीं

Ans. (a) तापायनिक ट्रायोड वाल्व

Q.3 प्रवर्धक गुणांक, गतिक प्लेट प्रतिरोध एवं अन्योन्य चालकता गुणांक में संबंध होता है-

(a) µ = \frac{r_p}{g_m}
(b) µ = rp × gm
(c) rp = µ × gm
(d) gm = \frac{r_p}{µ}

Ans. (b) µ = rp × gm

Q.4 ट्रांजिस्टर में कितने टर्मिनल होते हैं-

(a) एक
(b) दो
(c) तीन
(d) चार

Ans. (c) तीन

Q.5 उत्सर्जक धारा IE का मान है-

(a) IE = IB + IC
(b) IE = IB – IC
(c) \frac{I_B}{I_C} = IE
(d) इनमें से कोई नहीं

Ans. (a) IE = IB + IC

Q.6 ट्रांजिस्टर का धारा लाभ है-

(a) Ai = \frac{h_i}{1 + h}
(b) Ai = \frac{h_{12}}{1 + h_{21}R_2}
(c) Ai = \frac{h_i}{h_{21}R_2}
(d) Ai = \frac{h_{21}}{1 + h_{22}R_2}

Ans. (d) Ai = \frac{h_{21}}{1 + h_{22}R_2}

Q.7 धारा लाभ β एवं α में संबंध है-

(a) β = \frac{α}{1 - α}
(b) α = \frac{β}{1 - α}
(c) β = \frac{α}{1 - β}
(d) इनमें से कोई नहीं

Ans. (a) β = \frac{α}{1 - α}

Q.8 उभयनिष्ठ अमीटर ट्रांजिस्टर का निवेशी प्रतिरोध होता है-

(a) 1 Ω से 2 Ω
(b) 1 kΩ से 2 kΩ
(c) 2 kΩ से 3 kΩ
(d) 5 kΩ से 6 kΩ

Ans. (b) 1 kΩ से 2 kΩ

Q.9 धारा लाभ γ एवं α में संबंध है-

(a) γ = \frac{1}{1 - α}
(b) γ = \frac{1}{1 + α}
(c) α = \frac{γ}{1 - α}
(d) γ = \frac{α}{1 - α}

Ans. (a) γ = \frac{1}{1 - α}

Q.10 अमीटर फाॅलोअर है-

(a) एक धारा पुनर्भरण प्रवर्धक
(b) एक सन्धि युक्ति
(c) एक वोल्टेज पुनर्भरण प्रवर्धक
(d) एक प्रतिकारक युक्ति

Ans. (c) एक वोल्टेज पुनर्भरण प्रवर्धक

Q.11 धारा प्रवर्धन का मान है-

(a) δ = \frac{δI_C}{δI_E}
(b) δ = \frac{δI_E}{δI_C}
(c) δ = δIE – δIC
(d) इनमें से कोई नहीं

Ans. (a) δ = \frac{δI_C}{δI_E}

Q.12 बहुक्रमी प्रवर्धक होता है-

(a) दो क्रम वाला
(b) द्विक्रम वाला
(c) एक से अधिक क्रम वाला
(d) तीन क्रम वाला

Ans. (c) एक से अधिक क्रम वाला

Q.13 शक्ति प्रवर्धन व्यक्त करते हैं-

(a) α2 \frac{R_L}{R_E}
(b) α2 \frac{R_E}{R_L}
(c) α2 × RE × RL
(d) इनमें से कोई नहीं

Ans. (a) α2 \frac{R_L}{R_E}

Q.14 शक्ति लाभ को व्यक्त करते हैं-

(a) Ap = Av + A
(b) Av = Ap + A
(c) A = Av + Ap
(d) इनमें से कोई नहीं

Ans. (a) Ap = Av + A

Q.15 AC दोलित्र एक है-

(a) कला त्वरित दोलित्र
(b) आयाम दोलित्र
(c) विस्थापन दोलित्र
(d) कला विस्थापन दोलित्र

Ans. (d) कला विस्थापन दोलित्र

Q.16 RC दोलित्र में आवृत्ति-

(a) अप्रभावित रहती है
(b) अपरिवर्तित रहती है
(c) परिवर्तित होती रहती है
(d) कुछ नहीं कहा जा सकता

Ans. (b) अपरिवर्तित रहती है

Q.17 वोल्टता प्रवर्धक है-

(a) वोल्टता तरंग रूप को प्रवर्धित करता है
(b) इसको शक्ति सम्भरण के लिए करते हैं
(c) उपर्युक्त दोनों में
(d) इनमें से कोई नहीं

Ans. (a) वोल्टता तरंग रूप को प्रवर्धित करता है

Q.18 दोलित्र की दोलनी आवृत्ति होती है –

(a) f = \frac{1}{2πCR}
(b) f = \frac{1}{2πR}
(c) f = \frac{1}{2πCL}
(d) \frac{1}{f} = \frac{1}{2πCR}

Ans. f = \frac{1}{2πCR}

Q.19 समस्वरित प्रवर्धक होता है –

(a) रेडियो आवृत्ति प्रवर्धक
(b) शक्ति प्रवर्धक
(c) वोल्टता प्रवर्धक
(d) इनमें से कोई नहीं

Ans. (a) रेडियो आवृत्ति प्रवर्धक

Q.20 श्रव्य परिसर में आवृतियों को प्रवर्धित करने के लिए बनाया गया प्रवर्धक होता है-

(a) श्रव्य प्रवर्धक
(b) शक्ति प्रवर्धक
(c) वोल्टता प्रवर्धक
(d) इनमें से कोई नहीं

Ans. (a) श्रव्य प्रवर्धक

Q.21 किसी प्रवर्धक का वोल्टेज प्रवर्धन 50 है तो फीड बैंक फैक्टर का मान कितना हो कि यह दोलित्र की भांति व्यवहार करें-

(a) 0.1
(b) 0.01
(c) 0.03
(d) 0.04

Ans. (b) 0.01

Q.22 श्रव्य आवृत्ति दोलित्र का आवृत्ति परिसर होता है-

(a) 20 से 20 दोलित्र हर्ट्ज
(b) 20 किलो हर्ट्ज से 30 मेगा हर्ट्ज
(c) 30 मेगा हर्ट्ज से 300 मेगा हर्ट्ज
(d) इनमें से कोई नहीं

Ans. (a) 20 से 20 दोलित्र हर्ट्ज

Q.23 CB प्रवर्धक में निवेशी परिपथ हैं-

(a) आधार संग्राही परिपथ
(b) उत्सर्जक आधार परिपथ
(c) उत्सर्जक संग्राही परिपथ
(d) इनमें से कोई नहीं

Ans. (b) उत्सर्जक आधार परिपथ

Q.24 CB एम्पलीफायर की तुलना में CE एम्पलीफायर का-

(a) धारा लाभ अधिक होता है
(b) वोल्टेज लाभ कम होता है
(c) वोल्टेज लाभ अधिक होता है
(d) धारा लाभ कम होता है

Ans. (d) धारा लाभ कम होता है

Q.25 CE प्रवर्धक में निवेशी तथा निर्गत सिग्नल होते हैं-

(a) समान कला में
(b) 30° के कलान्तर पर
(c) 6° के कलान्तर पर
(d) विपरीत कला में

Ans. (a) समान कला में

Q.26 रैखिक आवर्धन के लिए अभिलाक्षणिक वक्र पर DC कार्यकारी बिन्दु होना चाहिए-

(a) सस्तब्ध तथा संतृप्त क्षेत्र के बीच
(b) संतृप्त क्षेत्र के पास
(c) संग्राही लोड लाइन पर कहीं भी
(d) संस्तब्ध वोल्टेज के निकट

Ans. (a) सस्तब्ध तथा संतृप्त क्षेत्र के बीच

Q.27 ट्रांजिस्टर क्रिया के लिए –

(a) संग्राहक, आधार की अपेक्षा अधिक अपमिश्रित होना चाहिए
(b) आधार, संग्राहक सन्धि अग्र अभिनति में होनी चाहिए
(c) आधार क्षेत्र की मोटाई इसके अल्पसंख्यक आवेश वाहकों की विसरण लम्बाई की तुलना में कम होनी चाहिए
(d) इनमें से कोई नहीं

Ans. (c) आधार क्षेत्र की मोटाई इसके अल्पसंख्यक आवेश वाहकों की विसरण लम्बाई की तुलना में कम होनी चाहिए

Q.28 सन्धि ट्रांजिस्टर द्विध्रुवीय कहलाता है क्योंकि-

(a) इसमें दो संधियां होती हैं
(b) इसमें धारा प्रवाह के लिए इलेक्ट्रॉन तथा होल दोनों उत्तरदाई होते हैं
(c) इसमें दो सिरे होते हैं
(d) इसमें p व n दो प्रकार के अर्द्ध-चालक प्रयुक्त किए जाते हैं

Ans. (b) इसमें धारा प्रवाह के लिए इलेक्ट्रॉन तथा होल दोनों उत्तरदाई होते हैं

Q.29 n-p-n ट्रांजिस्टर p-n-p ट्रांजिस्टर की तुलना में क्यों अधिक श्रेष्ठ होता है-

(a) इसमें इलेक्ट्रॉनों का प्रवाह अधिक होता है
(b) इसमें अधिक शक्ति सहन करने की क्षमता होती है
(c) इसमें ऊर्जा का ह्रास कम होता है
(d) इनमें से कोई नहीं

Ans. (a) इसमें इलेक्ट्रॉनों का प्रवाह अधिक होता है

Q.30 वर्ग A शक्ति प्रवर्धक है जिसमें निर्गत धारा बहती है-

(a) निवेशी सिग्नल के अर्द्ध चक्र में
(b) निवेशी सिग्नल के पूर्व चक्र में
(c) विवेशी सिग्नल के तीन चौथाई चक्र में
(d) निवेशी सिग्नल के एक चौथाई चक्र में

Ans. (b) निवेशी सिग्नल के पूर्व चक्र में

Q.31 प्रवर्धक के रूप में ट्रांजिस्टर को डायोड वाल्व से श्रेष्ठ समझा जाता है क्योंकि-

(a) यह अधिक ताप परिवर्तन सहन कर सकता है
(b) इसकी निर्गत प्रतिबाधा बहुत अधिक होती है
(c) यह अधिक शक्ति को सहन कर सकता है
(d) इसके प्रचालन में हीटर की आवश्यकता नहीं होती है

Ans. (d) इसके प्रचालन में हीटर की आवश्यकता नहीं होती है

Q.32 उभयनिष्ठ उत्सर्जक प्रवर्धक में निर्गत धारा और निवेशी धारा के बीच का कलान्तर होता है-

(a) 30°
(b) 60°
(c) 90°
(d) 180°

Ans. (d) 180°

Q.33 किसी दी गई उत्सर्जक धारा के संगत संग्राहक धारा तब अधिक होगी जबकि-

(a) आधार क्षेत्र में बहुसंख्यक आवेश वाहकों की दर कम हो
(b) आधार क्षेत्र मोटा हो
(c) आधार क्षेत्र में अल्पसंख्यक आवेश वाहको की गतिशीलता कम हो
(d) उत्सर्जक क्षेत्र भारी मात्रा में अपमिश्रित
हो

Ans. (a) आधार क्षेत्र में बहुसंख्यक आवेश वाहकों की दर कम हो

Q.34 जब किसी ट्रांजिस्टर को डिजिटल परिपथ में उपयोग किया जाता है तो वह प्रायः संचालित होता है-

(a) एक्टिव रीजन में
(b) ब्रेकडाउन रीजन में
(c) सेचुरेशन रीजन में
(d) लीनियर रीजन में

Ans. (a) एक्टिव रीजन में

Q.35 धनात्मक पुनः निविष्ट प्रयुक्त होता है-

(a) दिष्टकारी में
(b) दोलित्र में
(c) प्रवर्धक में
(d) संसूचक में

Ans. (b) दोलित्र में

Q.36 प्रवर्धक के बिना पुनर्निवेशन के वोल्टेज गेन A तथा ऋणात्मक पुनर्निवेशन के साथ वोल्टेज गेन Af में संबंध होता है-

(a) Af = \frac{A}{1 - βA}
(b) Af = \frac{A}{1 + βA}
(c) Af = A (1 – βA)
(d) Af = A (1 + βA)

Ans. (b) Af = \frac{A}{1 + βA}

Q.37 अर्द्ध-शक्ति आवृतियों पर वोल्टेज गेन मध्य आवृत्ति वोल्टेज गेन की तुलना में होता है-

(a) 50%
(b) 70.7%
(c) 33.3%
(d) 67.3%

Ans. (b) 70.7%

Q.38 ट्रांजिस्टर द्वारा शक्ति प्रवर्धन

(a) असम्भव है
(b) ऊर्जा के संरक्षण सिद्धान्त के अनुरूप होता है
(c) सम्भव है यदि निवेशी वोल्टेज प्रत्यावर्ती हो
(d) सम्भव है, यदि निवेशी वोल्टेज दिष्ट हो

Ans. (b) ऊर्जा के संरक्षण सिद्धान्त के अनुरूप होता है

Q.39 एक RC युग्मित प्रवर्धक में –

(a) प्रतिरोध भार के रूप में तथा संधारित्र युग्मन अवयव के रूप में उपयोग होता है
(b) संधारित्र भार के रूप में तथा प्रतिरोध युग्मन अवयव के रूप में उपयोग होता है
(c) प्रेरक भार के रूप में तथा संधारित्र युग्मन अवयव के रूप में उपयोग होता है
(d) संधारित्र भार के रूप में तथा प्रेरक युग्मन अवयव के रूप में उपयोग होता है

Ans. (a) प्रतिरोध भार के रूप में तथा संधारित्र युग्मन अवयव के रूप में उपयोग होता है

Q.40 ट्रांजिस्टर में अनुचित बायसन का परिणाम है-

(a) संग्राहक पर अत्यधिक ऊष्मा का जनन
(b) निर्गत सिग्नल में विरूपण
(c) लोड रेखा की गलत स्थिति
(d) उत्सर्जक टर्मिनल पर भारी लोडिंग

Ans. (c) लोड रेखा की गलत स्थिति

Q.41 अपेक्षाकृत विस्तृत आवृत्ति परास में आवृत्ति अनुक्रिया वक्र अच्छा होता है-

(a) R-C युग्मित प्रवर्धक का
(b) L-C युग्मित प्रवर्धक का
(c) ट्रांसफार्मर युग्मित प्रवर्धक का
(d) इसमें से कोई नहीं

Ans. (a) R-C युग्मित प्रवर्धक का

Q.42 R-C युग्मित प्रवर्धक में मध्य आवृत्ति परिसर में आवृत्ति के साथ वोल्टेज गेन-

(a) बढ़ता है
(b) घटता है
(c) नियत रहता है
(d) में घट-बढ़ दोनों हो सकती है

Ans. (c) नियत रहता है

Q.43 ट्रांजिस्टर प्रवर्धक का शक्ति लाभ अधिकतम होता है-

(a) C-E विन्यास में
(b) C-B विन्यास में
(c) C-C विन्यास में
(d) प्रत्येक विन्यास में समान

Ans. (a) C-E विन्यास में

Q.44 कला-व्युत्क्रमण संभव है

(a) CB विधा में
(b) CC विधा में
(c) CE विधा में
(d) CB व CC दोनों विधाओं में

Ans. (c) CE विधा में

Q.45 कॉमन-बेस (उभयनिष्ठ-आधार) विधा में ट्रांजिस्टर का धारा-लाभ होता है-

(a) 1 से कम
(b) 1 से अधिक
(c) 1
(d) शून्य

Ans. (a) 1 से कम

Q.46 कॉमन-बेस प्रवर्धक की तुलना में कॉमन-एमीटर प्रवर्धक का-

(a) इनपुट प्रतिरोध कम होता है
(b) आउटपुट प्रतिरोध उच्च होता है
(c) धारा गेन कम होता है
(d) धारा गेन अधिक होता है

Ans. (d) धारा गेन अधिक होता है

Q.47 वर्ग-A प्रवर्धक की अधिकतम शक्ति प्रवर्धन क्षमता होती है-

(a) 25%
(b) 50%
(c) 75%
(d) 100%

Ans. (a) 25%

Q.48 प्रवर्धकों में धनात्मक पुनर्निवेशन –

(a) प्रवर्धक के लाभ को बढ़ाता है
(b) लाभ स्थायित्व को घटाता है
(c) विकृति को बढ़ाता है
(d) उपर्युक्त सभी

Ans. (d) उपर्युक्त सभी

Q.49 यदि किसी ट्रांजिस्टर के लिए β = 24 है तो α का मान होगा-

(a) 0.98
(b) 0.97
(c) 0.96
(d) 0.95

Ans. (c) 0.96

Q.50 ट्रांजिस्टर में उत्सर्जक आधार सन्धि –

(a) का प्रतिरोध निम्न होता है
(b) का प्रतिरोध उच्च होता है
(c) उत्क्रम अभिनत होती है
(d) ऐसे कण आधार क्षेत्र में इंजेक्ट करती है जोकि आधार के लिए बहुसंख्यक वाहक है

Ans. (a) का प्रतिरोध निम्न होता है

Q.51 सिलिकॉन ट्रांजिस्टर के लिए नी-वोल्टेज है-

(a) 0.3 V
(b) 0.5 V
(c) 0.7 V
(d) 1.2 V

Ans. (a) 0.3 V

Q.52 एक स्टेजी CE प्रवर्धक में निवेशी व निर्गत सिग्नल होते हैं-

(a) सदैव ऋणात्मक
(b) सदैव बराबर
(c) समान कला में
(d) विपरीत कला में

Ans. (d) विपरीत कला में

Q.53 ट्रांजिस्टर बाइसिंग में स्टैबिलिटी फैक्टर (स्थिरता गुणांक) S को परिभाषित किया जाता है-

(a) \frac{∂i_B}{∂i_{CBO}}
(b) \frac{∂i_B}{∂i_C}
(c) \frac{∂i_C}{∂i_{CBO}}
(d) \frac{∂i_{CBO}}{∂i_C}

Ans. (c) \frac{∂i_C}{∂i_{CBO}}

Q.54 जब ट्रांजिस्टर क्रियाशील होता है तो उसकी कलैक्टर सन्धि है-

(a) n-p-n तथा p-n-p दोनों ट्रांजिस्टरों में अग्र अभिनत
(b) n-p-n तथा p-n-p दोनों ट्रांजिस्टरों में उत्क्रम अभिनत
(c) n-p-n में उत्क्रम अभिनत तथा p-n-p में अग्र अभिनत
(d) p-n-p में उत्क्रम अभिनत तथा n-p-n में अग्र अभिनत

Ans. (b) n-p-n तथा p-n-p दोनों ट्रांजिस्टरों में उत्क्रम अभिनत

Q.55 ट्रांजिस्टर प्रवर्धन α का मान होता है-

(a) सदैव 1 के बराबर
(b) 1 से कम
(c) 1 से अधिक
(d) 1 के बराबर या अधिक

Ans. (b) 1 से कम

Q.56 ट्रांजिस्टर प्रवर्धक गुणांक α तथा β के बीच संबंध होता है-

(a) α = \frac{β}{1 + α}
(b) α = \frac{β}{1 - β}
(c) β = \frac{α}{1 + α}
(d) इनमें से कोई नहीं

Ans. (a) α = \frac{β}{1 + α}

Q.57 सिलिकॉन के लिए वर्जित ऊर्जा अन्तराल का मान है-

(a) 0.7 eV
(b) 0.3 eV
(c) 1.1 eV
(d) 0.72 eV

Ans. (c) 1.1 eV

Q.58 ट्रांजिस्टर प्रतीक में उत्सर्जक (एमीटर) पर तीर का चिन्ह दर्शाता है-

(a) इलेक्ट्रॉन के बहने की दिशा
(b) धनात्मक वोल्टेज बिन्दु
(c) धनात्मक धारा बहने की दिशा
(d) भू-सम्पर्कित संयोजन

Ans. (c) धनात्मक धारा बहने की दिशा

Q.59 निर्गत चक्र के अर्द्ध भाग में धारा सक्रिय भाग से प्रवाहित हो रही है। यह निम्नलिखित वर्ग का प्रवर्धक है-

(a) वर्ग -A
(b) वर्ग -B
(c) वर्ग -C
(d) इनमें से कोई नहीं

Ans. (b) वर्ग -B

Q.60 एक ट्रांजिस्टर में h-पैरामीटरों की संख्या होती है-

(a) दो
(b) तीन
(c) चार
(d) पांच

Ans. (c) चार

Q.61 ट्रांजिस्टर प्रवर्धक का विश्लेषण करने के लिए सर्वाधिक उपयोगी पैरामीटर है-

(a) z-पैरामीटर
(b) y-पैरामीटर
(c) h-पैरामीटर
(d) इनमें से कोई नहीं

Ans. (c) h-पैरामीटर

Q.62 एक द्वि-स्टेजी R-C युग्मित प्रवर्धक का वोल्टेज गेन 120 है। यदि प्रथम स्टेज का वोल्टेज गेन 15 है तो द्वितीय स्टेज का वोल्टेज गेन होगा-

(a) 105
(b) 135
(c) 1800
(d) 8

Ans. (d) 8

Q.63 यदि फीडबैक अंश तथा बिना फीडबैक के वोल्टेज गेन क्रमशः 0.39 तथा 100 हो तब ऋणात्मक फीडबैक के साथ वोल्टेज गेन होगा –

(a) 2.5
(b) 10
(c) 39
(d) 1.0

Ans. (a) 2.5

Q.64 कला विस्थापन दोलित्र में 1 मेगा ओम के तीन समान प्रतिरोध तथा 68 पाइको फैरड के तीन समान संधारित्र प्रयुक्त किए जाते हैं। परिपथ के दोलनों की आवृत्ति ज्ञात करो-

(a) 735 हर्ट्ज
(b) 500 हर्ट्ज
(c) 200 हर्ट्ज
(d) इनमें से कोई नहीं

Ans. (a) 735 हर्ट्ज

60+ Objective Questions and Answers Physics in Hindi, Physics MCQs in Hindi, B.Sc. I Physics III book-Unit 3 MCQs in Hindi, Top 60+ Physics Objective Questions and Answers in Hindi,

Read More –

  1. यान्त्रिकी एवं तरंग गति नोट्स (Mechanics and Wave Motion)
  2. अणुगति एवं ऊष्मागतिकी नोट्स (Kinetic Theory and Thermodynamics)
  3. मौलिक परिपथ एवं आधारभूत इलेक्ट्रॉनिक्स नोट्स (Circuit Fundamental and Basic Electronics)
Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *