वस्तुनिष्ठ प्रशन | Objective Questions and Answers in Hindi | B.Sc. 1 Year | Physics 1st paper | Unit – 1

1.भौतिक विज्ञान के मूल नियम जिन फ्रेमों में एक जैसे होते हैं। वे फ्रेम कहलाते हैं।
अ. घूर्णन फ्रेम
ब. त्वरित फ्रेम
स. जङत्वीय फ्रेम
द. अजङत्वीय फ्रेम ।

2.संरक्षी बल के लिए सही सम्बन्ध हैं।
अ. \overrightarrow{∇} . \overrightarrow{F} = 0
ब. \overrightarrow{∇} .V. \overrightarrow{F} = 0
स. \overrightarrow{∇} × \overrightarrow{F} = 0 ✓
द. \overrightarrow{∇^2} × \overrightarrow{F} = 0

3.यदि एक प्रक्षेप्य की गति दूसरे प्रक्षेप्य द्वारा देखी जाए, तो गति का पथ दिखाई देगा।
अ. व्रत्त
ब. दीर्घ वृत्त
स. परवलय
द. सरल रेखीय ✓

4.M व 2M द्रव्यमान के दो बिंदु द्रव्यमान क्रमशः M व N बिंदुओं पर स्थित हैं। उनका द्रव्यमान केंद्र रेखा MN को विभाजित करेगा।
अ. 2 : 1 में ✓
ब. 1 : 2 में
स. 2 : 3 में
द. 1 : 3 में

5.जब एक निकाय पर लगने वाले बाह्य बलों का योग शुन्य है तो निम्नलिखित राशियों संरक्षित रहती हैं।
अ. रेखीय संवेग ✓
ब. कोणीय संवेग
स. गतिज ऊर्जा
द. स्थितिज ऊर्जा

6.एक मिसाइल को पलायन वेग से कम वेग से छोड़ा जाता है। इसकी K. F. व P. E. का योग हमेशा होगा।
अ. धनात्मक
ब. शुन्य
स. ऋणात्मक ✓
द. इनमें से कोई नहीं

7.एक चलती हुई कार के पहिए की परिधि पर स्थित कण का पथ पृथ्वी पर खड़े प्रेक्षक को दिखाई देगा।
अ. साइक्लॉइड ✓
ब. वृत्तीय
स. परवलयाकार
द. सरल रेखीय

8.रेखीय संवेग संरक्षण का नियम तुल्य है।
अ. न्यूटन के प्रथम नियम के
ब. न्यूटन के द्वितीय नियम के
स. न्यूटन के तृतीय नियम के
द. इनमें से कोई नहीं

9.वह प्रेम जिनके लिए जड़त्व का नियम लागू होता है कहलाते हैं।
अ. अजड़त्वीय
ब. घूर्णीय
स. जड़त्वीय ✓
द. कोई नहीं

10.न्यूटन के नियम लागू होते हैं।
अ. घूर्णीय फ्रेम में
ब. जड़त्वीय फ्रेम में ✓
स. अजड़त्वीय फ्रेम में
द. त्वरित फ्रेम में

11.रॉकेट किस सिद्धांत पर कार्य करता है? वह है।
अ. गुरुत्व का नियम
ब. रेखीय संवेग संरक्षण का नियम
स. गति विषयक प्रथम नियम
द. जड़त्व का नियम

12.पृथ्वी की सतह के किसी पिण्ड से संबद्ध निर्देश फ्रेम होता है।
अ. अजड़त्वीय ✓
ब. जड़त्वीय
स. न अजड़त्वीय न जड़त्वीय
द. न्यूटोनियम

13.गैलीलियन रूपांतरण समीकरण में।
अ. भौतिकी के नियम अजड़त्वीय निर्देश – तंत्रों में निश्चर होते हैं।
ब. भौतिकी के नियम जड़त्वीय निर्देश – तंत्रों में निश्चर होते हैं। ✓
स. भौतिकी के नियम घूर्णीय निर्देश – तंत्रों में अचर होते हैं।
द. कुछ भी नहीं कहा जा सकता है।

14.बाह्य बलों की अनुपस्थिति में निकाय के द्रव्यमान केंद्र का वेग होता है।
अ. शून्य
ब. स्थिर ✓
स. समय के साथ बढ़ता है।
द. समय के साथ घटता है।

15.दो m1 व m2 द्रव्यमान की वस्तुओं की गतिज ऊर्जा समान है। उनके रेखीय संवेग की निष्पत्ति होगी।
अ. m1 : m2
ब. m2 : m1
स. \sqrt{m_1} : \sqrt{m_2}
द. m21 : m22

16.अनेक कणों से बने किसी निकाय का कुल रेखीय संवेग सदैव नियत रहता है।
अ. निकाय पर संरक्षी बल कार्यरत हो
ब. निकाय पर असंरक्षी बल कार्यरत हो
स. निकाय पर कोई परिणाम बाह्य बल कार्य न करें ✓
द. निकाय पर परिवर्ती बल कार्यरत हो

17.कणों कि प्रत्यास्थ टक्कर में।
अ. स्थितिज ऊर्जा संरक्षित रहती है
ब. गतिज ऊर्जा संरक्षित रहती है ✓
स. कुल ऊर्जा संरक्षित रहती है
द. रेखीय संवेग संरक्षित रहता है।

18.प्रत्यास्थ संघट्ट में संरक्षित रहने वाली भौतिक राशि है।
अ. केवल रेखीय संवेग
ब. केवल ऊर्जा
स. उपयुक्त (अ) व (ब) दोनों ✓
द. इनमें से कोई नहीं

19.पूर्णतः अप्रत्यास्थ संघट्ट में पिण्डों की संघट्ट के पूर्व तथा पश्चात् की गतिज ऊर्जाएं क्रमशः K1 व K2 है, तो
अ. K1 < K2

ब. K1 > K2
स. K1 = K2
द. K2 = 0

20.कोणीय वेग तथा रेखीय वेग में संबंध है।
अ. \overrightarrow{v} = \overrightarrow{r} . \overrightarrow{ω}
ब. \overrightarrow{v} = \overrightarrow{r} × \overrightarrow{ω}
स. \overrightarrow{v} = \overrightarrow{ω} × \overrightarrow{r}
द. \overrightarrow{v} = \overrightarrow{r} \overrightarrow{ω}

21.प्रकीर्णन परिक्षेत्र की विमांए होती है।
अ. संवेग की
ब. लम्बाई की
स. क्षेत्रफल की ✓
द. आयतन की

22.एक व्यक्ति घूमते स्टूल पर अपनी भुजाएं फैलाएं बैठा है। एकाएक वह भुजाएं सिकोड़ लेता है। उसका।
अ. कोणीय वेग घट जाएगा
ब. कोणीय संवेग बढ़ जाएगा
स. कोणीय वेग नियत रहेगा
द. जङत्व आघूर्ण घट जाएगा ✓

23.यदि HCl अणु में H1 के द्रव्यमान केंद्र से दूरी x हो तो cl35 के द्रव्यमान केंद्र से दूरी होगी।
अ. x
ब. 35x
स. \frac{36}{35} x
द. \frac{x}{35}

Read more :-

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *