Q.1 निर्देश फ्रेम से क्या तात्पर्य है?

Ans. वह तन्त्र जिसके सापेक्ष किसी वस्तु की गति का वर्णन होता है वह उस वस्तु का निर्देश फ्रेम (या तन्त्र) कहलाता है।

Q.2 निर्देश फ्रेम कितने प्रकार के होते हैं?

Q.2 निर्देश फ्रेम कितने प्रकार के होते हैं?

Ans. जड़त्व के नियम के आधार पर निर्देश फ्रेम दो प्रकार के होते हैं। 1. जड़त्वीय निर्देश फ्रेम (या तंत्र) 2. अजड़त्वीय निर्देश फ्रेम (या तंत्र)।

Q.3 जड़त्वीय निर्देश फ्रेम क्या हैं?

Ans. वे निर्देश फ्रेम जिसमें न्यूटन के गति के नियमों का पालन होता हैं, वे निर्देश फ्रेम जड़त्वीय निर्देश फ्रेम (या तंत्र) कहलाते है।

जङत्वीय निर्देश फ्रेम के उदाहरण⇒ स्थिर निर्देश फ्रेम, कार्तीय निर्देशांक निकाय, गोलीय ध्रुवीय निर्देशांक निकाय, दूर स्थित तारे आदि।

जङत्वीय निर्देश फ्रेम के उदाहरण⇒ स्थिर निर्देश फ्रेम, कार्तीय निर्देशांक निकाय, गोलीय ध्रुवीय निर्देशांक निकाय, दूर स्थित तारे आदि।

Q.4 अजड़त्वीय निर्देश फ्रेम क्या हैं?

Ans. वे निर्देश फ्रेम जिसमें न्यूटन के गति के नियमों का पालन नहीं होता, वे निर्देश फ्रेम अजड़त्वीय निर्देश फ्रेम (या तंत्र) कहलाते हैं।

अजड़त्वीय निर्देश फ्रेम के उदाहरण⇒ त्वरित निर्देश फ्रेम, घूर्णी निर्देश फ्रेम, सूर्य, पृथ्वी, आकाश, गंगा आदि।

अजड़त्वीय निर्देश फ्रेम के उदाहरण⇒ त्वरित निर्देश फ्रेम, घूर्णी निर्देश फ्रेम, सूर्य, पृथ्वी, आकाश, गंगा आदि।

Q.5 पृथ्वी कौन-सा निर्देश फ्रेम हैं?

Ans. पृथ्वी एक अजड़त्वीय निर्देश फ्रेम हैं। क्योंकि इसमें दो प्रकार की कोणीय गतियाॅं होती है अतः दो प्रकार के त्वरण कार्य करते हैं।